Search This Website

WhatsApp कौन देशों में है बैन यूज करने पर हो सकती है जेल

these countries have banned restricted whatsapp use for their citizens

WhatsApp कौन देशों में है बैन


इंस्टैंट मेसेजिंग ऐप Whatsapp दुनिया का सबसे पॉप्युलर मेसेजिंग ऐप है। इस वक्त इसके यूजर्स की संख्या 1.5 अरब से ज्यादा है। भारत की अगर बात करें तो यहां वॉट्सऐप को रोज कम से कम 20 करोड़ लोग यूज करते हैं। चैटिंग के अलावा वॉट्सऐप के जरिए यूजर्स दुनिया के किसी भी कोने में बैठे अपने फ्रेंड्स और फैमिली मेंबर्स के साथ फोटो और विडियो शेयर कर सकते हैं। इतना ही नहीं वॉट्सऐप अपने यूजर्स को ऑडियो और विडियो कॉलिंग की भी सुविधा देता है।

वॉटस्ऐप यूजर्स को कनेक्ट रहने के लिए कई शानदार फीचर देता है, लेकिन इसके बावजूद दुनिया में कई ऐसे देश हैं जहां के लोग इस ऐप का इस्तेमाल नहीं कर सकते। इन देशों ने अपने नागरिकों के लिए वॉट्सऐप को बैन रखा है। इसके पीछे की वजह नैशनल सिक्यॉरिटी बताई जाती है। तो आइए डीटेल में जानते हैं वे कौन से देश हैं जहां इसे यूज करने की आजादी सीमित है या फिर पूरी तरह से बैन है।

चीन


वॉट्सऐप के मजबूत एनक्रिप्शन फीचर के कारण चीन में इसे पॉलिटिकल कैंपेन्स के दौरान बैन कर दिया जाता है। चीनी सरकार कॉन्टेंट को राजनीतिक कारणों से सेंसर करती है। इतना ही नहीं यहां कि सरकार वॉट्सऐप को बैन कर लोगों पर अपना पूरा कंट्रोल रखना चाहती है। हालांकि, कुछ दिन पहले आई कुछ खबरों में कहा गया था कि वॉट्सऐप पर लगा बैन टेंपररी है और इसे कुछ महीनों में हटा लिया जाएगा।

नॉर्थ कोरिया


किम जोंग उन की तानाशाही के कारण नॉर्थ कोरिया हमेशा अंतररााष्ट्रीय स्तर पर लाइमलाइट में रहता है। यहां की सेंसरशिप पॉलिसी दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा कड़ी मानी जाती है। यहां के लोगों को इंटरनेट कब देना है और कब नहीं यह सरकार तय करती है। यही कारण है कि यहां वॉट्सऐप और फेसबुक जैसे सोशल नेटवर्किंग प्लैटफॉर्म्स के यूजर काफी कम हैं।

क्यूबा


क्यूबा में इंटरनेट और चैटिंग ऐप्स पर कड़ा प्रतिबंध है। कठोर सेंसरशिप पॉलिसी के कारण क्यूबा को यूरोपियन यूनियन ने भी बैन किया हुआ है। इसके अलावा दुनिया के कई और ऐसे देश हैं जो क्यूबा की इस पॉलिसी की कड़ी निंदा करते हैं। प्रेस फ्रीडम इंडेक्स में भी क्यूबा सबसे निचले पायदान पर है। क्यूबा में केवल नेताओं, पत्रकारों और कुछ चुनिंदा छात्रों को ही कानूनी तौर पर इंटरनेट और वॉट्सऐप यूज करने के लिए योग्य माना जाता है। क्यूबा में इंटरनेट बैन की वजह राष्ट्रीय सुरक्षा नहीं बल्कि इंटरनेट की महंगी कीमत है जो एक क्यूबा 
के नागरिक की औसत सैलरी के बराब

ईरान


ईरान के नागरिक भी सरकार के कड़ी पाबंदियों के बीच रहने को मजबूर है। इतना ही नहीं, ईरान बीते 40 साल से पत्रकारों पर रोक लगाने वाला दुनिया का सबसे बदनाम देश बना हुआ है। वॉट्सऐप की बात करें तो ईरान में कई ऐसे मौके आए हैं जब यहां की सरकार ने वॉट्सऐप पर पूरी तरह से बैन लगा दिया था। इसके पीछे की वजह देश की सुरक्षा और सेंसरशिप को माना जाता है।

सीरिया


सालों से युद्ध झेल रहा यह देश इंटरनेट पर कड़ी सेंसरशिप रखता है। यहां राजनीतिक कारणों से कई वेबसाइट्स को बैन किया जा चुका है। बैन वेबसाइट्स को ऐक्सेस करने वाले लोगों को यहां तुरंत गिरफ्तार कर लिया है। वॉट्सऐप के साथ ही यहां यूट्यूब और फेसबुक भी बैन है।

यूएई


वॉट्सऐप पर की जाने वाली ऑडियो और विडियो कॉलिंग पर यहां अक्सर बैन लगा दिया जाता है। यहां की सरकार लोकल टेलिकॉम कंपनियों और सर्विस प्रोवाइडर्स को प्रमोट करने के लिए यह बैन लगाती है। यूएई में भारतीयों के साथ पाकिस्तान और बांग्लादेश के कई लोग रहते हैं जिन्हें वॉट्सऐप यूज करने की आदत है। ऐसे में यहां की लोकल टेलिकॉम कंपनियों को भारी नुकसान होता है क्योंकि कॉलिंग के लिए उनकी सर्विस ना लेकर लोग वाई-फाई के जरिए वॉट्सऐप कॉल पर अपने परिजनों से कॉन्टैक्ट में रहते हैं।



To Get Fast Updates Join Our Social Media: Telegram | WhatsApp | Facebook

0 comments:

Post a Comment

Please Comment Your Questions, Queries or Suggestions

Popular Posts